लौकी के फायदे- Lauki ke fayde in Hindi

Lauki ke fayde: आमतौर पर लोग लौकी खाने से बचते हैं. कुछ को इसका स्वाद पसंद नहीं होता है तो कुछ को ये पता ही नहीं होता है कि ये कितनी फायदे की चीज है.
Lauki ke fayde in Hindi

गर्मियों में लौकी की सब्जी खूब चाव से खाई जाती है। लौकी में कई गुण होते हैं जो शरीर के कई रोगों को दूर करते हैं। लौकी में 12 प्रतिशत तक पानी होता है और बाकी फाइबर होता है।

भारत में लाखों लोग स्वस्थ रहने के लिये रोज़ लौकी का जूस पीते हैं। गर्मियों में इसका जूस पीने से शरीर को काफी लाभ मिलते हैं।

आमतौर पर लोग लौकी खाने से बचते हैं. कुछ को इसका स्वाद पसंद नहीं होता है तो कुछ को ये पता ही नहीं होता है कि ये कितनी फायदे चीज है.

अगर आपको भी ये लगता है कि लौकी खाने से कोई फायदा नहीं है तो आपको बता दें कि ऐसा नहीं है.
(also read: Castor oil benefits in Hindi)

लौकी एक बेहद फायदेमंद सब्जी है, जिसके इस्तेमाल से आप कई तरह की बीमारियों से राहत पा सकते हैं.

लौकी के फायदे - Lauki Ke Fayde in Hindi

Lauki ke fayde in Hindi

1. वजन कम करने में मददगार

कुछ ही लोगों को ये पता होगा कि लौकी खाने से वजन कम होता है. आपको शायद इस बात पर यकीन न हो लेकिन किसी भी दूसरी चीज की तुलना में लौकी ज्यादा तेजी से वजन कम करती है.
(also read: Weight loss tips in Hindi)

आप चाहें तो लौकी का जूस नियमित रूप से पी सकते हैं. इसके अलावा आप चाहें तो इसे उबालकर, नमक डालकर भी इस्तेमाल में ला सकते हैं.
(also read: Weight gain tips in Hindi)

2. ताजगी 

 लौकी को हल्की सब्जियों में गिना जाता है। इसे खाने से पेट में भारीपन नहीं रहता, बल्कि यह शरीर में ताजगी बनाए रखने में सहायक है।

प्रतिदिन तरोताजा बने रहने के लिए, नमक या मसाले डालकर लौकी का जूस पीना कारगर उपाय है।

3. पाचन 

 लौकी पाचन संबंधी समस्याओं का उत्तम इलाज है, साथ ही यह एसिडिटी में भी लाभप्रद है। लौकी को अपने भोजन में शामिल करने से पाचन क्रिया को बेहतर किया जा सकता है।

4. डाइबिटीज 

डाइबिटीज के मरीजों के लिए लौकी का सेवन एक प्रभावकारी उपाय है। डाइबिटीज में खाली पेट लौकी का सेवन करना बेहतर होगा। आप चाहें तो लौकी का जूस पी सकते हैं।

5. यूरिनरी डिसऑर्डर 

यूरिनरी डिऑर्डर अर्थात मूत्र संबंधी समस्याओं में भी लौकी बेहतर कारगर उपाय है। यह शरीर में सोडियम की अधिकता को कम करने में सहायक है, जो यूरिन के जरिए बाहर निकल जाता है।

6. लौकी बचाए बाल सफेद होने से 

आज के बढ़ते प्रदूषण और मिलावटी भोजन के दौर में 25-30 साल में ही लोगों के बाल सफेद हो रहे हैं। सभी बालों की सफेदी रोकने के लिए प्राकृतिक तरीके तलाश रहे हैं।
(also read: Easy Hair fall treatment at home)

इसलिए यदि आप अपने बाल सफेद होने से रोकना चाहते हैं तो रोज सुबह एक गिलास लौकी के रस का सेवन करें।

7. लौकी के गुण करें तनाव को दूर 

जीवन की बढ़ती आपाधापी के बीच, आज नौजवान से लेकर बुजुर्ग तक तनाव के शिकार हो रहे हैं। यह लगभग हर किसी के जीवन का हिस्सा है। लेकिन अनियमित-अनुपयुक्त आहार लेते रहने पर यह समस्या और बढ़ सकती है।

गौरतलब है कि लौकी में पर्याप्त जलीय तत्व होते हैं जिनसे हमारा शरीर और मन शीतल होता है। लौकी से पित्त के विकार दूर होते हैं और इसमें मन शांत करने (Sedative) के भी कुछ गुण होते हैं जिससे आप अन्दर से अच्छा महसूस करते हैं।

8. लौकी के फायदे रखें हृदय को स्वस्थ

इन दिनों दिल की बीमारियां बढ़ती जा रही हैं।
हार्ट अटैक भी इन्हीं में से एक है। कुछ लोगों को दिल की बीमारी विरासत में मिलती है तो कुछ को बेतरतीब भोजन के कारण होती है।

सो अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए, आपको सप्ताह में कम से कम तीन बार लौकी के रस का सेवन करना चाहिए। यह रक्तचाप को नियंत्रित रखेगा जिससे आपका दिल स्वस्थ रहेगा।

लौकी का जूस के फायदे-Lauki ka juice ke fayde in Hindi

Lauki ka juice in hindi लौकी महज एक सब्जी नहीं बल्कि कई बीमारियों को दूर भगाने वाली औषधी है। इसके बाद भी लोग लौकी खाना कम पसंद करते है क्योंकि उनका मानना है कि ये स्वादिष्ट नहीं होती है। लेकिन आप इसके फायदे जानकार हैरान रह जाएंगे।

आज हम आपको लौकी के जूस के फायदे और लौकी के जूस के नुकसान के बारें में बताएगें। लौकी का जूस बुखार, खाँसी, पेट के रोगों ,हृदय के विकार, गर्भाशय आदि से सम्बंधित रोगों के लिए लाभदायक साबित होता है।
(also read: Aloe Vera juice ke fayde)

यदि आप कभी बीमार नहीं पड़ना चाहते हैं तो रोज़ सुबह खाली पेट लौकी का एक गिलास पीना ना भूलें। लौकी का जूस पीने से मोटापा दूर होता है, पित्त कंट्रोल होती है, दिल की बीमारी और हाई बीपी की समस्या से छुटकारा मिलता है।
(also read: Carrot juice benefits and effects in hindi)

लौकी का जूस बनाने के बाद इसे एक बार जरुर चख कर देख लें।

अगर आप अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं तो आप व्यायाम के साथ खानपान पर विशेष ध्यान दें। इसके लिए नियमित व्यायाम के बाद आपको प्रतिदिन 100 ग्राम लौकी का जूस पीना चाहिए।

लौकी के जूस को पीने से पेट घंटो तक भरा रहता है जिससे आपका मोटापा भी कम होता है। यह बहुत कम लोग जानते हैं कि लौकी का जूस बहुत जल्दी मोटापा कम करने में मदद करता है।

लौकी दूसरी चीज़ो के मुक़ाबले तेज़ी से वजन कम करती है। लौकी को उबाल कर नमक के साथ लेने से वजन कुछ ही दिनों में घट जाता है।

लौकी का रस विटामिन, पोटेशियम, लौह, पानी और फाइबर से परिपूर्ण होता है। लौकी के रस में मौजूद पोषक तत्व शरीर की चयापचय दर में वृद्धि करते हैं और पाचन तंत्र को सुचारु रूप से काम करने में सहायता करते हैं।
(also read: Turmeric milk benefits in Hindi)

इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है जिससे भूख नही लगती और पेट भरा-भरा सा लगता है।

यदि नियमित रूप से रोज सुबह खली पेट लौकी के जूस का सेवन किया जाए तो यह वजन घटाने में बहुत ही लाभकारी साबित हो सकता है।

पाचन तंत्र को बनाएं मजबूत एवं दुरुस्त
अगर आपको किसी तरह की पाचन क्रिया से जुड़ी कोई शिकायत है तो लौकी का जूस आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं। इसमें कई ऐसे तत्व होते हैं जो कब्ज और गैस की समस्या से राहत दिलाने में मदद करते हैं।

मोटापा घटाने में मददगार
आप शायद इस बात पर यकीन नहीं करेंगे लेकिन यह सच है कि लौकी तेजी से वजन कम करती है। अगर आप वजन कम करना चाहचे हैं तो रोजाना लैकी के जूस का सेवन करें।

बॉडी हीट कम करता है
लौकी की तासीर ठंडी होती है। जिस वजह से गर्मी के मौसम में इसका सेवन बहुत अच्छा रहता है। अगर आपको गर्मी के चलते सिर में दर्द या अपच की शिकायत रहती है लौकी के जूस में अदरक मिला कर पिएं।

हाई ब्लड प्रेशर कम करे
आज के दौर में हाई ब्लड प्रेशर एक आम समस्या बन चुकी है। लौकी में अधिक मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है।

ऐसे करे लौकी के जूस का इस्तेमाल – Use Bottle Gourd Juice in Hindi

आपको बता दें कि लौकी के जूस का सेवन हमेशा ताजा करना चाहिए। लौकी का जूस बनाते समय थोड़ा सा चख लेना चाहिए क्योंकि जूस कड़वा लगे तो उसे नहीं पिए और फिर से बना ले।

लौकी का जूस खाना खाने से पहले या फिर खाना खाने के एक घंटा बाद पिए।

इस दिन में तीन बार ले सकते है। यहां एक बात जानना बहुत जरूरी है कि जिन लोगों को जुकाम या नजले की समस्या हो वे लौकी का रस सर्दियों में ना पियें, पीना ही चाहें तो सोंठ और कालीमिर्च डालकर पियें।

ऐसे बनाएं लौकी का जूस


  • रेसिपी क्विज़ीन : इंडियन
  • कितने लोगों के लिए : 1 - 2
  • समय : 5 से 15 मिनट
  • कैलोरी : 36
  • मील टाइप : वेज


  • आधी लौकी
  • 8-10 पुदीना पत्ता
  • चुटकीभर काली मिर्च पाउडर
  • चुटकीभर नमक
  • आधा छोटा चम्मच नींबू का रस
  • पानी जरूरत के अनुसा


विधि
- सबसे पहले लौकी को धोकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें.

- अब लौकी के टुकड़े, पानी और पुदीने पत्ते को एक मिक्सर जार में डालकर पीस लें.

- तैयार रस को एक छन्नी से छानते एक गिलास में निकालकर रखें.

- लौकी का जूस तैयार है. काली मिर्च पाउडर, थोड़ा नमक और नींबू का रस मिलाकर पिएं.

नोट: अगर लौकी का जूस कड़वा निकल आए तो उसे जूस बिल्कुल भी न लें.

लौकी के जूस के नुकसान – Lauki Ke Juice Ke Nuksan in Hindi

जैसा की आपने जाना लौकी के जूस के फायदे अनेक है परन्तु इसे सही मात्रा में लेने की जरूरत होती है।

अति हर जगह नुकसान दायक होती है इसलिए जरूरत से ज्यादा लौकी का जूस पीने या लौकी खाने से आपको नुकसान का सामना भी करना पड़ सकता है। आइये जानते है लौकी के जूस के नुकसान (Lauki ke juice ke nuksan) क्या है

लौकी के जूस में अन्य किसी प्रकार की सब्जी को ना मिलाये।

कड़वा लौकी के जूस का सेवन ना करने इससे बचने के लिए आप lauki ka juice बनाने के बाद उसे एक चम्मच चक कर देख सकते है।

खाली पेट लौकी का जूस का सेवन करने से गैस और जी मिचलाने जैसी समस्या हो सकती है लेकिन जरूरी नहीं की यह हर किसी को हो।

गर्भवती महिलाओ को लौकी का जूस पीते समय खास सावधानियां रखनी चाहिए, गर्भवती महिलाएं कड़वे लौकी के जूस का सेवन कभी ना करेन क्योकि इससे गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है।

जिन लोगों को जुकाम या नजले की समस्या हो वे लौकी का रस सर्दियों में ना पियें, पीना ही चाहें तो सोंठ और काली मिर्च डालकर पियें।

शुरुआत में लौकी का जूस पीने से कब्ज और पेट खराब जैसे समस्या हो सकती है। क्योंकि लौंकी का जूस पेट से बिकारों को बाहर निकलता है।

अगर आपके साथ इस प्रकार के कोई लक्षण हो तो घबराएँ नहीं कुछ समय के बाद यह लक्षण अपने आप ठीक हो जायेगें।

Tags: Gourd Juice , Health Benefits , Lauki Juice Ke Fayde , Lauki Juice Ke Nuksan , लौकी, लौकी का जूस.