चने के फायदे,उपयोग- Chickpeas Benefits, Uses in Hindi

Chane Khane Ke Fayde in Hindi चना भारत का प्रमुख खाद्यान है। यह बहुत ही पौष्टिक और फायदेमंद आहार के रूप में उपयोग किया जाता है। लेकिन क्या आप चने खाने के फायदे जानते हैं।
Chane Khane Ke Fayde
image: Pixabay

चना जिसे अन्य क्षेत्रीय भाषा में काले चने से भी जाना जाता है। यह हमें बहुत से स्वास्थ्य लाभ दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

क्या आप जानते हैं कि सुबह खाली पेट भीगे चने खाने की सलाह क्यों दी जाती है?

क्यों अंकुरित आहार में चने को विशेष महत्व दिया गया है?

आपको जानकार हैरानी होगी कि छोटा-सा दिखने वाला चना पाचन तंत्र को मजबूत करने के साथ-साथ कैंसर जैसी घातक बीमारी से भी बचाव कर सकता है।

इस लेख में हमारे साथ जानिए शरीर की विभिन्न परेशानियों के लिए चना खाने के फायदे और इसे खाने के विभिन्न तरीके।

क्या होता है चना – What is Chickpeas in Hindi

चना कई औषधीय गुणों से परिपूर्ण एक खाद्य पदार्थ है, जिसका वैज्ञानिक नाम साइसर एरीटिनम है।

यह एक महत्वपूर्ण दलहन (Pulse) है, जिसे दुनिया भर में उगाया जाता है।

भारत में इसका उत्पादन सबसे ज्यादा किया जाता है।

यह कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर व विटामिन-बी सहित कई अन्य पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत है।

आयुर्वेदिक दृष्टि से चना थोड़ा कड़वा, मधुर, शीत, लघु, रूखा, कफपित्त कम करने वाला, शक्ति बढ़ाने वाला, रुचिकारक, तथा घी के साथ सेवन करने से त्रिदोष कम करने वाला होता है।

यह बुखार, कुष्ठ, प्रतिश्याय (Coryza), प्रमेह या डायबिटीज, मेद या मोटापा कम करने में सहायक होता है।

चने की एक खास बात यह है कि इसका सेवन कई तरह से किया जा सकता है, जिसकी चर्चा हम नीचे करेंगे।

चने के पोषक तत्व – Chane Ke Poshak Tatva in Hindi

यह ऐसा खाद्यान है जो आपको ऊर्जा दिलाने के साथ ही विभिन्न स्वास्थ्य लाभ दिलाता है।

ऐसा इसलिए है क्योंकि चने में बहुत से पोषक तत्व अच्छी मात्रा में होते हैं।

चने के 100 ग्राम मात्रा के अनुसार पोषक तत्व इस प्रकार हैं :

कैलोरी – 378

कुल वसा – 6 ग्राम (दैनिक आवश्यकता का 9%)

कुल कार्बोहाइड्रेट – 61 ग्राम (दैनिक आवश्यकता का 20%)

आहार फाइबर – 17 ग्राम (दैनिक जरूरत का 68 %)

प्रोटीन – 19 ग्राम (दैनिक आवश्यकता का 38%)

विटामिन A – दैनिक आवरश्यकता का 1%

विटामिन C – दैनिक आवश्यकता का 6%

कैल्शियम – दैनिक आधार पर 10%

आयरन – दैनिक आवश्यकता का लगभग 34%


चने के बारे में जानने के बाद आगे जानिए चने के फायदे

Chana Khane Ke Fayde

Chane Khane Ke Fayde

Health Benefits Of Soaked Chana अंकुरित चने खाना बहुत ही लाभप्रद होता है।

अंकुरित चना धातु को पुष्ट, मांसपेशियों को सुदृढ़ व शरीर को वज्र के समान बना देता है तथा यह सभी चर्म रोगों को नष्ट करता है।

विटामिन-सी की अधिकता वाला यह वजन को बढ़ाता है।

खून में वृद्धि करता है और उसे साफ करता है।

इसके अतिरिक्त अंकुरित चने का सेवन करने से फेफड़े मजबूत होते हैं।

यह रक्त में कोलेस्ट्राल को कम करता है और दिल की बीमारियों को दूर करने में सहायक होता है।

चने खाने के फायदे वजन कम करने में 

आपके संतुलित आहार में फाइबर समृद्ध खाद्य पदार्थों का होना आवश्यक है।

फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ आपके वजन को कम करने में काफी मदद करते हैं।

चने में घुलनशील और अघुलनशील दोनो ही प्रकार के फाइबर अच्छी मात्रा में होते हैं।

घुलनशील फाइबर आपके पाचन तंत्र को मजबूत करता है।

जबकि अघुलनशील फाइबर कब्ज और अन्य पाचन समस्याओं को रोकता है।

इसके अलावा फाइबर की उच्च मात्रा आपकी भूख को नियंत्रित कर आपको पूर्णता का एहसास कराती है।

जिसके कारण आपको बार-बार भूख का अनुभव नहीं होता है।

उबला हुए चने का सेवन करने पर आपकी भूख कम हो जाती है।

इस तरह से भूख कम होने पर आपके शरीर में मौजूद अतिरिक्त कैलोरी का उपयोग ऊर्जा निर्माण के लिए किया जाता है।

इस प्रकार चना खाने के फायदे आपके वजन को कम करने में सहायक हो सकते है।

आप भी चने के इस विशेष गुण का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

दिल को रखे दुरुस्त

काला चना एंटीऑक्सिडेंट्स, एंथोसायनिन, फाइटोन्यूट्रिएंट्स और एएलए से भरा हुआ है, जो हृदय रोग की समस्याओं को दूर करके स्वस्थ रक्त वाहिकाओं को बनाए रखने और ऑक्सीडेटिव तनाव से निपटने में आपकी मदद कर सकता है।

यह फोलेट और मैग्नीशियम का भी एक अच्छा स्रोत है, जो आपको दिल के दौरे और स्ट्रोक के खतरे को कम करने में सहायता कर सकता है।

चना के औषधीय गुण मधुमेह को दूर करे

आपके अच्छे स्वास्थ्य के लिए चने में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

इन पोषक तत्वों की उपस्थिति आपको मधुमेह से भी बचा सकते हैं।

चना विशेष रूप से फाइबर समृद्ध होता है।

अध्ययनों से पता चलता है कि टाइप 1 मधुमेह वाले लोग जो उच्च फाइबर आहार का सेवन करते हैं उनमें रक्त ग्लूकोज का स्तर कम होता है।

इसी प्रकार टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों के लिए उच्च फाइबर सामग्री का सेवन रक्त शर्करा, लिपिड और इंसुलिन के स्तर में सुधार कर सकता है।

इसके अलावा चने में कार्बोहाइड्रेट भी होता है जो कि धीरे-धीरे पचते हैं।

इस प्रकार यह रक्त शर्करा के स्तर को कम करते हैं और इंसुलिन प्रतिरोध में भी योगदान देते हैं।

सुबह के समय चने का सेवन करने से आप अपनी प्रतिरक्षा शक्ति को भी बढ़ा सकते हैं।

इसलिए चना मधुमेह रोगी और सामान्य लोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है।

चना शरीर को चुस्त-दुरुस्त करता है।

खून में जोश पैदा करता है।

यकृत (जिगर) और प्लीहा के लिए लाभकारी होता है। तबियत को नर्म करता है।

खून को साफ करता है। धातु को बढ़ाता है।

आवाज को साफ करता है।

रक्त सम्बन्धी बीमारियों और वादी में लाभदायक होता है।

इसके सेवन से पेशाब खुलकर आता है। इसको पानी में भिगोकर चबाने से शरीर में ताकत आती है।

चना विशेषकर किशोरों, जवानों तथा शारीरिक मेहनत करने वालों के लिए पौष्टिक नाश्ता होता है।

इसके लिए 25 ग्राम देशी काले चने लेकर अच्छी तरह से साफ कर लें।

मोटे पुष्ट चने को लेकर साफ-सुथरे, कीडे़ या डंक लगे व टूटे चने निकालकर फेंक देते हैं।

शाम के समय इन चनों को लगभग 125 ग्राम पानी में भिगोकर रख देते हैं।

सुबह के समय शौचादि से निवृत्त होकर एवं व्यायाम के बाद चने को अच्छी तरह से चबाकर खाएं और ऊपर से चने का पानी वैसे ही अथवा उसमें 1-2 चम्मच शहद मिलाकर पी जाएं।

देखने में यह प्रयोग एकदम साधारण लगता है किन्तु यह शरीर को बहुत ही स्फूर्तिवान और शक्तिशाली बनाता है।

चने के फायदे सूजन को दूर करे 

चने में  एक मैक्रोन्यूट्रिएंट है जो शरीर की पुरानी सूजन से लड़ने की क्षमता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

यह आपके सोने की क्षमता  को भी नियंत्रित करता है, मांसपेशियों में गति को बढ़ाता है, साथ ही साथ सीखने और याददाश्त को बढ़ाता है।

उल्टी से दिलाये छुटकारा चना

अगर मसालेदार खाना खाने या किसी बीमारी के साइड इफेक्ट के वजह से उल्टी हो रही है तो चने का सेवन इस तरह से करने पर फायदा मिलता है।

चने को छह गुने जल में भिगोकर दूसरे दिन सुबह उसका पानी छानकर 10-20 मिली मात्रा में पीने से पैत्तिक-छर्दि (उल्टी) से राहत मिलती है।

बाल झड़ने से मिलेगा छुटकारा

प्रोटीन की कमी से बाल पतले होकर झड़ने लगते हैं।

चना प्रोटीन और आयरन से समृद्ध होता है, इसलिए यह बाल झड़ने की समस्या से जल्द निजात दिला सकता हैं।
(Also read: Balo ka jhadna kaise roke)

झुर्रियों और एजिंग के लिए

चने में मौजूद मैंगनीज झुर्रियों को हटाकर एजिंग के प्रभाव को कम करता है।

समें मौजूद विटामिन-ए भी झुर्रियों को हटाने का काम कर सकता है।

चने में मौजूद विटामिन-सी त्वचा के लिए लाभदायक होते हैं क्योंकि यह कोलेजन को बढ़ाकर त्वचा को स्वस्थ रखने का काम करता है।

(Also read: Face ke liye multani mitti ke fayde)

दर्द से राहत

दर्द व सूजन के लिए भी चना फायदेमंद हो सकता है।

चना दर्द व सूजन को कम कर सकता है।

इसके अलावा, चने में मौजूद फाइबर और विटामिन-ए, सी, व बी6 जैसे पोषक तत्व सूजन से राहत दिलाने में मदद करता है।

प्रजनन क्षमता में वृद्धि

शहद के साथ एक मुट्ठी चना खाने से पुरूषों की प्रजनन क्षमता में इजाफा होता है। इससे सेक्सुअल लाइफ हेल्दी रहती है।

यूरिन संबंधी समस्या

प्रतिदिन गुड़ के साथ चना खाने के यूरिन संबंधी समस्या दूर होती है।

बार-बार पेशाब लगने की समस्या से निजात मिलती है।

इसके अलावा पाइल्स की प्रॉब्लम दूर होती है।

आयरन का स्रोत

गर्भवती, स्तनपान कराने वाली महिलाओं और बढ़ते बच्चों के लिए काले चने बहुत ही फायदेमंद है।

काले चने में प्रचुर मात्रा में आयरन होता है और यह आपको ऊर्जावान रहने और एनीमिया को रोकने में मदद कर सकता है।

चने के फायदे आंखों की रोशनी के लिए

नियमित रूप से चने  का सेवन आपकी आंखों की रोशनी बढ़ा सकता है।

वे जस्ता और विटामिन जैसे विटामिन ए, सी, और ई का एक अच्छा स्रोत हैं, ये सभी दृष्टि की रक्षा करने में मदद करते हैं।

चना प्रोटीन का अच्छा स्रोत

चने  वृद्धि और विकास के लिए आवश्यक प्रोटीन का एक महत्वपूर्ण स्रोत है, साथ ही पूरे शरीर में उचित उपचार और मरम्मत करता है।

वे शाकाहारियों के लिए एक आदर्श विकल्प हैं जो यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उनके पास उचित पोषक तत्व का सेवन हो।

हालांकि, एक व्यक्ति को प्रोटीन के एकमात्र स्रोत के रूप में चने का उपयोग करना ठीक नहीं लेकिन अगर आपको संतुलित प्रोटीन सेवन की सलाह दी जाती है।

तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते है

Ankurit Chana Ke Fayde

Chane Khane Ke Fayde

आपने अंकुरित अनाज से होने वाले लाभ के बारे में जरूर सुना होगा।

कई लोगों को सुबह के नाश्ते में अंकुरित किया हुआ चना खाते हुए भी देखा होगा।

क्या आप जानते हैं, कि इन तरह से चने को भिगोकर खाना कितना फायदेमंद होता है और इससे कौन-कौन से लाभ मिलते हैं।

हम बता रहे हैं आपको अंकुरित चने खाने के आश्चर्यजनक लाभ

देशी चना न्यूट्रिएंट्स के मामले में बादाम जैसे महंगे ड्राय फ्रूट्स से ज्यादा फायदेमंद होता है।

भिगोए हुए चने में प्रोटीन, फाइबर, मिनरल और विटामिन्स खूब होते हैं जो कई बीमारियों से बचाव के साथ-साथ हेल्दी रहने में भी हेल्पफुल होते हैं।

वैसे तो हर व्यक्ति के लिए चने खाने के अपने फायदे हैं, लेकिन खासकर पुरुषाें को तो ये जरूर खाने चाहिए।

खाने का सही तरीका…

मुट्ठी भर चने लेकर साफ कर लें।

इन्हें साफ मिट्टी या चीनी मिट्टी के बर्तन में डालकर ऊपर से इतना साफ पानी डालें कि चने पूरी तरह भीग जाए।

रात भर चनों को इस पानी में भीगे रहने दें।

सुबह चने निकालकर अच्छे से चबा-चबाकर खाएं।

चाहें तो चने का पानी भी छानकर पी सकते हैं। इससे फायदा दोगुना हो जाएगा।

Ankurit Chana Ke Fayde in Hindi


काले चने सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। 

इसका प्रयोग किसी भी रूप में किया जाए, यह सेहतमंद ही होता है, लेकिन अंकुरित कर खाने पर आप इसके पोषक तत्वों का दुगुना लाभ उठा सकते हैं।

काले चने फाइबर से भरे होते हैं।

इसे भिगोकर खाना पेट के लिए बहुत लाभदायक होता है।

कब्ज की शिकायत होने पर यह आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित होते हैं।

लेकिन इसका प्रयोग छिलकों के साथ ही करें।

सुस्ती और थकान से बचने के लिए भी काले चने आपकी मदद कर सकते हैं।

आपने सुना तो होगा, कि चने खाने से घोड़े जैसी फुर्ती आती है।

जी हां, अगर आप लगातार उर्जावान बने रहना चाहते हैं, तो प्रतिदिन अंकुरित चने खाएं, कुछ ही दिनों में आप स्फूर्ति महसूस करने लगेंगे।

चना हड्डियों को मजबूत करें

लोहे, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, तांबा, और जस्ता में समृद्ध होने वाले गार्बनो बीन्स हड्डी के स्वास्थ्य के लिए असाधारण रूप से अच्छे हैं।

अस्थि खनिज घनत्व में सुधार और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी उम्र से संबंधित स्थितियों को रोकने के लिए उन खनिजों में से कई आवश्यक हैं।

Pregnancy Me Chane Khane Ke Fayde

अगर आपको ब्लड शुगर या डाइबिटीज की समस्या है, तो काले चने आपके लिए एक कारगर उपाय साबित हो सकते हैं।

यह रक्त में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है और शरीर में ग्लूकोज की अतिरिक्त मात्रा को भी कम करने में मदद करता है।

इसके लिए सुबह खालीपेट इसका सेवन करना फायदेमंद होता है।

शिशु में जन्मदोष से बचाव – जैसा कि लगभग हर कोई जानता है कि फोलेट गर्भावस्था के लिए आवश्यक पोषक तत्व है।

यह बच्चे के विकास में मदद करता है और न्यूरल ट्यूब दोष (Neural Tube Defects) जैसे शिशु जन्मदोष को रोकने में मदद कर सकता है।

चने को फोलेट का प्राकृतिक स्रोत माना गया है, इसलिए इसे आहार में शामिल किया जाना चाहिए

जेस्टेशनल डायबिटीज से बचाव – कई महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान मधुमेह का खतरा होता है।

ऐसे में गर्भावस्था के दौरान ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने और जेस्टेशनल डायबिटीज से बचाव के लिए आप आहार में अधिक फाइबर की मात्रा शामिल कर सकती हैं।

इसके लिए आप छोले का सेवन कर सकती हैं, क्योंकि इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर मौजूद होता है।

दमा से बचाव – अगर गर्भवती महिला खुद को और होने वाले शिशु को दमा जैसी बीमारी से बचाना चाहती है, तो फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन शुरू कर सकती हैं।

छोले के सेवन से अस्थमा जैसी सांस की बीमारियों से बचाव हो सकता है, क्योंकि इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर मौजूद होता है ।

चने अंकुरित करने की विधि : How to make Ankurit Chana

अंकुरित करने के लिए चने को अच्छी तरह पानी में साफ करके इतने पानी में भिगोएं कि उतना पानी चना सोख ले।

इसे सुबह के समय पानी में भिगो दो और रात में साफ, मोटे, गीले कपडे़ या उसकी थैली में बांधकर लटका देते हैं।

गर्मी में 12 घंटे और सर्दी के मौसम में 18 से 24 घंटों के बाद भिगोकर गीले कपड़ों में बांधने से दूसरे, तीसरे दिन उसमें अंकुर निकल आते हैं।

गर्मी में थैली में आवश्यकतानुसार पानी छिड़कते रहना चाहिए। इस प्रकार चने अंकुरित हो जाएंगे।

अंकुरित चनों का नाश्ता एक उत्तम टॉनिक है।

अंकुरित चनों में कुछ व्यक्ति स्वाद के लिए कालीमिर्च, सेंधानमक, अदरक की कुछ कतरन एवं नींबू के रस की कुछ बून्दे भी मिलाते हैं

परन्तु यदि अंकुरित चने को बिना किसी मिलावट के साथ खाएं तो यह बहुत अधिक उत्तम होता है।

Badam ke fayde

Laung Ke Fayde

Elaichi Ke fayde