Benefits Of Castor Oil in Hindi – अरंडी के तेल के फायदे

Castor oil ke fayde in Hindi – अरंडी के तेल का उपयोग बरसों से किया जा रहा है। अरंडी के तेल के कई फायदे होते हैं। ये स्वास्थ्य के साथ- साथ त्वचा और बालों व सेहत के लिए भी लाभदायक है।

Benefits of Castor Oil in Hindi

इसका उपयोग औषधि के रूप में रोगों के उपचार के लिए किया जाता है। ये कई प्रकार की बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करता है। अरंडी के तेल को अंग्रेजी भाषा में कैस्टर ऑयल के नाम से जाना जाता है। तो आईये जानते हैं इसके फायदे।

भोजन में प्रयोग होने वाली चीज़ों को आम बोलचाल में मिर्च-मसाले कहा जाता है, जबकि आयुर्वेद में इन्हें प्राकृतिक औषधी कहा गया है।

बात सिर्फ कहने भर की नहीं है, बल्कि वास्तव में ये मिर्च-मसाले व तेल विभिन्न रोगों में गुणकारी दवा का काम करते हैं।
इन्हीं में से एक है अरंडी का तेल (कैस्टर ऑयल), जो त्वचा, बालों व सेहत के लिए रामबाण का काम करता है।

क्या है अरंडी का तेल – What is Castor Oil?

वैज्ञानिक नाम : रिसिनस कम्युनिस
मूल स्थान : अफ्रीका व भारत
अन्य नाम : अरंडी का तेल (हिंदी), आमुदामु (तेलगु), रिरिरा टेला (बंगाली), इरांदेला तेला (मराठी), अमानक्कु एनी (तमिल) व अवानक्केना (मलयालम)

यह एक वनस्पती पौधा है। अरंडी की फलियों में प्रचुर मात्रा में तेल पाया जाता है, जिस कारण रेंड़ी के तेल को दुनिया भर में जाना जाता है। यहां हम आपको बता रहे हैं कि अरंडी तेल क्यों गुणकारी है और रोजमर्रा के जीवन में अरंडी तेल प्रयोग क्यों करना चाहिए।
(also read: Weight gain tips in Hindi)

उपयोग के हिसाब से अरंडी तेल एक बहुत पुराना औषधीय तेल है जो कई समस्याओं के इलाज के रूप में उपयोग होता है। इस तेल को बनाने के लिए इसके बीजों का उपयोग किया जाता है, इसके बीजो को दबाकर अरंडी तेल निकाला जाता है।

लेकिन इसके सूजन को कम करने और जीवाणुरोधी गुणों के कारण यह तेल पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। यह विभिन्न सौंदर्य प्रसाधन, साबुन, वस्त्र, मालिश तेलों और प्रतिरक्षा प्रणाली, फंगल संक्रमण का इलाज, त्वचा पिग्मेंटेशन का इलाज, बुढ़ापे की प्रक्रिया को धीमा करना, मुंहासों का इलाज करना और
आंखों के इलाज में इस्तेमाल होता है।

यहां तक कि दवाओं में प्रयोग किया जाता है क्योंकि यह आपकी त्वचा, बालों और स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। अरंडी का तेल या कैस्टर ऑयल, थोड़ा गाढ़ा और दिखने में हल्के पीले रंग का होता है।

अरंडी के तेल में रेजिनोलिक एसिड (ricinoleic acid) और कई अन्य फैटी एसिड शामिल होते हैं जिनमें कुछ ऐसे गुण होते हैं जो इसे विशेष रूप से चेहरे के लिए उपयोगी बनाते हैं।

कैस्टर ऑयल के फायदे – Benefits of Castor Oil in Hindi

अरंडी का तेल मुख्य रूप से बालों, त्वचा व बेहतर स्वास्थ्य के लिए प्रयोग किया जाता है। इसे हमें विस्तार से एक-एक करके जानेंगे। सबसे पहले बात करते हैं कि अरंडी का तेल त्वचा के लिए किस-किस तरह से लाभकारी है।

Benefits of Castor Oil for Hair in Hindi – बालों के लिए अरंडी के तेल के फायदे

Benefits of Castor Oil in Hindi

बालों के लिए कैस्टर ऑयल के कई फायदे हैं- Castor oil Benefits for Hair

कैस्टर ऑयल बालों से संबंधित मुद्दों को हल करता है जैसे कि स्कैल्प के इन्फेक्शन, डैंड्रफ, बालों का गिरना आदि। अरंडी के तेल की उच्च प्रोटीन सामग्री बालों के पोषण को बनाए रखने के लिए इसे आदर्श बनाती है।
(also read: Hair fall treatment at home in Hindi)

रूसी

अरंडी का तेल रूसी का इलाज करता है जिसका मुख्य कारण तैलीय सिर की त्वचा होती है। तेल की उच्च राइसिनोलिक की एसिड सामग्री रूसी के विकास के लिए एक प्रतिकूल वातावरण बनाने में सिर की त्वचा के पी.एच को संतुलित करता है।

स्प्लिट एंड्स

अरंडी का तेल बाल की शाफ्ट में केराटिन की मरम्मत करता है। यह बालों के विभाजित सिरों और टूटने के लिए अधिक लचीला बनाता है जिससे यह और अधिक फैलता है।

बालों का झड़ना

अरंडी का तेल बालों की शाफ्ट की परिधीय परत को भेदकर बालों के झड़ने को कम करने में मदद करता है जिससे बाल अधिक घने और मजबूत होते हैं।
(also read: Balo ka jhadna kaise roke)


बालों की बनावट मोटी, गहरी और चमकदार करे

कैस्टर ऑयल एक प्राकृतिक कंडीशनर के रूप में काम करता है। यह बालों को नमी के नुकसान से बचाता है और उन्हें चिकना करता है। इसके इलावा अरंडी के तेल का सुरक्षात्मक कोट बालों को अधिक चमकदार बनाता है।

हेयरफॉल और हेयर रीग्रोथ

आज की तेज रफ्तार जीवनशैली और पर्यावरण प्रदूषक कहर बालों की सेहत से खिलवाड़ करते हैं।

अरंडी का तेल बालों के झड़ने को गिरफ्तार करने और बाल के दोबारा बढने का समर्थन करने के काम आता है। इस तेल में मौजूद रिसीनोलेइक एसिड सामग्री खून के बहाव में सुधार करती है।

यह बालों के झड़ने को कम करने में रोमकूप और खोपड़ी के स्वास्थ्य की बहाली में सक्षम बनाता है।

यह तैलीय सिर की त्वचा को पोषण देता है, रोगाणुओं के खिलाफ ढाल देता है और बालों की जड़ों को मजबूत करता है।

अरंडी के तेल में विटामिन-ई होता है जिसमें एंटी-ऑक्सिडेंट गुण होते हैं जो बालों के रोम को मरम्मत करने और बहाल करने में मदद करते हैं जिससे बाद में बाल बढ़ते हैं|

इस तेल में मौजूद उच्च प्रोटीन तत्व बालों में प्रवेश करता है और इसे पोषण देता है। यह बालों के स्वास्थ्य को दोबारा स्थापित करता है और बालों के बढने को प्रोत्साहित करता है।

डार्क सर्कल करे दूर- arandi tel ke fayde in Hindi

अक्सर आंखों के नीचे डार्क सर्कल हो जाते हैं। ये तेल डार्क सर्कल को दूर करने के भी काम आता है।

काले घेरे होने पर आप अरंडी के तेल से मालिश करें। मालिश करने से आपके डार्क सर्कल तुरंत सही हो जाएंगे और आंखों के नीचे की त्वचा एकदम सोफ्ट और साफ हो जाएगी।

अरंडी के तेल में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो रक्त संचार को बेहतर करने का काम करते हैं।

जोड़ों के दर्द में सहायक

अगर आपके भी जोड़ो में दर्द रहता है तो रोज़ाना दिन में एक या दो बार इस तेल से मालिश करें।

ऐसे करने से आपके जोड़ो के दर्द में आराम आएगा। तेल को हल्का गर्म करके मालिश करें।

इससे शरीर की सूजन भी कम होती है। इस ऑयल में प्राकृतिक एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो दर्द को कम करने में सहायक होते हैँ।

कब्ज़ मिटाए – Castor oil ke fayde in Hindi

अरंडी का तेल एक ऐसा तेल है जो बिना नुकसान पहुंचाए कब्ज़ की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

ये आंतों में पचे हुए खाने को आगे पहुंचाता है और पेट में मौजूद अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालता है।

ये न सिर्फ आपके पेट को साफ करके कब्ज की समस्या में राहत दिलाता है, बल्कि इसके इस्तेमाल से पाचन क्रिया भी ठीक होती है।

आप दूध, संतरे के जूस आदि में इसका सेवन कर सकते हैं, या सप्ताह में दो से तीन बार आप इसे अपने पेट पर लगाकर मालिश कर सकते हैं।

Castor oil benefits for skin

गर्मियों के मौसम में सनबर्न एक ऐसी समस्या है जिससे हमारी त्वचा पर काले निशान हो जाते है। जिससे जयदरतर लोग शिकार होते हैं।

ऐसे में अरंडी का तेल सनबर्न ठीक करने का काफी अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। इसके लिए आप एक कटोरी में एक चम्मच अरंडी का तेल तथा इतनी ही मात्रा में नारियल का तेल लें, और इसे अच्छे से अपने बालों और बालों की जड़ों में लगाएं। इस विधि का प्रयोग आप एक हफ्ते तक करें ।

आपको Sunburn के कारण ख़राब त्वचा में लाभ होगा।

यदि आपको मुंहासों की समस्या (The problem of acne) है । मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए आप
एरंड का तेल का इस्तेमाल कर सकते है, क्योंकि अरंडी के तेल में रायसीनोलिक एसिड होता है, जो की मुंहासों को प्रभावी रूप से ठीक करने में मदद करता है।

इस विधि के लिए आप हल्के गर्म पानी से अपना चेहरा धोएं, जिससे आपकी त्वचा के रोमछिद्र खुल जाएंगे और फिर थोड़ा सा कैस्टर ऑइल लें और इसे सोने से पहले अपने चेहरे पर लगाएं। इसे रातभर के लिए छोड़ दें और अगली सुबह अपने चेहरे को अच्छे से धो लें।

रोज़ाना इस विधि का प्रयोग आपको मुंहासों से छुटकारा दिलाएगा या फिर आप अरंडी के तेल को रुई पर लगाकर अपनी रखी त्वचा, मुंहासों या झुर्रियों पर लगा सकते है । Castor oil benefits

झुर्रिया दूर करने में | Benefits for
Wrinkle in Hindi

अरंडी के तेल के फायदे त्वचा के लिए ( Castor Oil Benefit for Skin in Hindi) बेहद फायदेमंद होते है| झुर्रियों को दूर करके त्वचा को जवान और मुलायम बनाता है|

अरंडी का तेल त्वचा में अच्छे से ऑब्जर्व हो जाता है और त्वचा में कोलोजन के उत्पादन को बढ़ाता है | इससे त्वचा हाइड्रेट रहती है, और उसमे सॉफ्टनेस आती है , और त्वचा में कसाव आता है जिससे की त्वचा की झुर्रिया दूर होती है |

(Also read: Multani mitti benefits for skin)

इसके लिए सबसे पहले अपने चेहरे को हल्के गुनगुने पानी से धो लें| जिससे की आपके स्किन पोर्स खुल जायेंगे| इसके बाद अरंडी के तेल की कुछ बुँदे अपने चेहरे पर लगायें|

और अच्छे से मसाज करें| कुछ ही दिनों में इसके चमत्कारिक परिणाम को मिलेंगे|

मुहासों और दाग धब्बों को दूर करने में | Benefits for Pimple in Hindi

अरंडी के तेल में मौजूद फैटी एसिड आपकी त्वचा के दाग धब्बो को दूर करने में फायदेमंद होते है| ये फैटी एसिड आपकी त्वचा की स्कार टिश्यू के चारों और मौजूद अच्छे टिश्यू का बढ़ाते है और धीरे धीरे स्कार टिश्यू पूरी तरह गायब हो जाते है|

साथ ही इसमें मौजूद राइसिलिनोलिक एसिड मुहासों में मौजूद बैक्टीरिया से लड़कर मुंहासो की समस्या को दूर करता है| दाग धब्बो और मुहासों की समस्या को दूर करने के लिए सबसे पहले अपने चेहरे को गर्म पानी से धो लें|

इससे आपके स्किन पोर्स खुल जाते है| इसके बाद अपने चेहरे पर अरंडी के तेल की कुछ बूंदो से मालिश करें| इससे आपके मुँहासे और दाग धब्बे पूरी तरह ठीक हो जायेंगे|

स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए | Benefits for Stretch Marks in Hindi

अरंडी का तेल स्ट्रेच मार्क्स को रोकने में ( Castor Oil benefits for Stretch Marks in Hindi) बहुत प्रभावी होता है| स्ट्रेच मार्क्स गर्भावस्था के दौरान पेट की त्वचा में आये खिचाव के कारन होते है|

(also read: Weight loss tips in Hindi)

इसे रोकने के लिए गर्भावस्था के अंतिम 3 महीनो में इसका इस्तेमाल करना चाहिए| इसमें मौजूद फैटी एसिड आपकी त्वचा को सॉफ्ट बनाते है जिससे की त्वचा पर निशान नहीं पड़ते है| इसलिए प्रेग्नेंसी के अंतिम महीनो में अरंडी के तेल से  मसाज करनी चाहिए|

होंठों के लिए वरदान

अरंडी का तेल फ़टे हुए और काले होंठों के लिए वरदान से कम नहीं है। इसके रोज़ाना होंठों पर प्रयोग से अच्छे परिणाम मिलते हैं।

बच्चों के लिए फ़ायदेमंद

अरंडी के तेल से मालिश करने से छोटे बच्चों की त्वचा साफ़ और कोमल बनती है, इसके अलावा इसके एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरियल गुण बच्चे की त्वचा के लिए बेहद फ़ायदेमंद है।

अरंडी के तेल के पौष्टिक तत्व – Castor Oil Nutritional Value in Hindi

यहां जानिए कि इस गुणकारी तेल में कौन-कौन से पौष्टिक तत्व छुपे हुए हैं।

  • फैटी एसिड ऑयल की औसतन संरचना
  • एसिड का नाम औसतन प्रतिशत स्तर
  • रिसिनोलेस एसिड 95 से 85%
  • ओलेक एसिड 6 से 2%
  • लिनोलिक एसिड 5 से 1%
  • लिनोलेलिक एसिड 1 से 0.50%
  • स्टीयरिक एसिड 1 से 0.50%
  • पामिटिक एसिड 1 से 0.50%
  • डायहाइड्रोक्सीस्टेरिक एसिड 0.5 से 0.30%
  • अन्य 0.5 से 0.20%


अरंडी के तेल के अन्य फायदे - Other benefits of Castor oil in Hindi


  • अरंडी के तेल का इस्तेमाल मुंहासों को हटाने के लिए किया जा सकता है। 
  • अरंडी के तेल को रुसी कम करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • बालों को मुलायम करने के लिए भी अरंडी का तेल इस्तेमाल होता है। 
  • कब्ज़ को ठीक करने के लिए अरंडी के तेल का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। 
  • अरंडी का तेल एंटीफंगल की तरह भी काम करता है।
  • होठों को नरम बनाने के भी अरंडी का तेल सहायता कर सकता है। 
  • मासिक धर्म के दौरान शरीर में हो रही ऐंठन को कम करने के लिए भी अरंडी का तेल उपयोग हो सकता है|


Castor Oil Properties in Hindi –अरंडी के तेल के गुण


  • हल्के पीले रंग से रंगहीन तरल तक
  • अद्वितीय स्वाद और गंध
  • बोइलिंग पॉइंट 313 डिग्री सें.ग्रे. है
  • डेंसिटी 961 कि.ग्रा. / एम 3 है
  • ट्राइग्लिसराइड राइसिनोलेट्स के प्रतिशत के साथ ओलियट और लिनोलेट अन्य महत्वपूर्ण तत्व हैं।
  • एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एंटी-फंगल
  • एंटी-इंफ्लेमेटरी और दर्द से आराम दिलाये
  • प्रसव को तेज़ करता है
  • प्रतिरक्षा और लसीका प्रणाली को उत्तेजित करता है
  • हाइड्रेट के रूप में काम करता है
  • लेक्सेटिव के रूप में काम करता है
  • आपकी भौहें और पलकों को गहरा करने के लिए अरंडी का तेल मदद कर सकता है।