गाजर के जूस के फायदे और नुकसान – Benefits of Carrot Juice and Side Effects in Hindi

Gajar Juice Ke Fayde Aur Nuksan ताजा गाजर का जूस हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। क्योंकि गाजर के जूस को सभी जूस का राजा माना जाता है। यह केवल गाजर के रंग और स्वाद के कारण नहीं है।गाजर का जूस कई तरीकों से फायदेमंद है। पुरुषों और महिलाओं के लिए इसी एक जूस के अलग-अलग लाभ हैं। यहां देखें गाजर के जूस के फायदे की पूरी लिस्ट...

benefits-of-carrot-juice-and-side-effects-in-hindi


गाजर का जूस हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। हालांकि यह आपकी त्वचा को भी फायदा पहुंचाता है। इसके सेवन से आपकी त्वचा भीतर से साफ होती है और चेहरे पर इसे लगाने से आपकी त्वचा पर मौजूद निशान दूर होते हैं। गाजर के जूस का नियमित सेवन करने से आपकी रंगत निखरती है। आइये गाजर के जूस के त्वचा के लिए अन्य फायदे जानते हैं।

गाजर का जूस आपकी सेहत के लिए क्यों अच्छा है / What is benefits of carrot juice?

गाजर खाने के अनेक फायदे है क्योंकि इसमें विटामिन ए, सी, के, बी 8, तांबा, लौह जैसे कई और भी खनिज व विटामिन पाए जाते है। गाजर 12 महीने आपको आसानी से मिल जाता है इसलिए आज हम आपको गाजर के जूस पीने के फायदे बताने जा रहे है।

शरीर को तरोताजा रखने के लिए गाजर का जूस फायदेमंद माना जाता है, लेकिन इसके लाभ यहीं समाप्त नहीं होते। दरअसल, यह कई पोषक तत्वों से समृद्ध होता है, जो शरीर को स्वस्थ रखने और बीमारियों से लड़ने का काम कर सकते हैं। गाजर विटामिन-ए का अच्छा स्रोत माना जाता है और विटामिन-ए आंखों के लिए लाभकारी माना जाता है।

गाजर का जूस एंटीऑक्सीडेंट को बढ़ाकर हृदय की कार्यप्रणाली के लिए मददगार साबित हो सकता है। इसके अलावा, गाजर का जूस गर्भावस्था में आवश्यक वजन बढ़ाने का काम कर सकता है। इसके अन्य लाभ में ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करना हड्डियों के विकास और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने को शामिल किया जा सकता है। लेख के इस भाग में आपको गाजर जूस के स्वास्थ्य संबंधी फायदे बताए जा रहे हैं।

नियमित सेवन के फायदे / What are benefits of carrot juice?

नियमित रूप से गाजर का जूस पीने के बहुत फायदे होते हैं। इससे आपकी त्वचा को पोषण मिलता है। इससे आपकी त्वचा रूखी नहीं होती और एक्जिमा जैसी त्वचा समस्यायें भी दूर रहती हैं। गाजर के जूस में एंटी ऑक्सीडेंट्स की मात्रा बहुत अधिक होती है जिससे उम्र का असर भी दूर रहता है। इसका सेवन झुर्रियों से भी दूर रखता है। अगर आपके चेहरे पर पहले से ही झुर्रियां हैं, तो गाजर का जूस उन्हें कम करने का काम करेगा।
(also read: Balo ka jhadna kaise roke)

गाजर के जूस के पोषक तत्व – carrot juice Nutrients in Hindi

हम सभी स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए गाजर जूस का सेवन करते हैं। ऐसा इसलिए है कि गाजर के जूस में ऐसे पोषक तत्वों की अच्छी मात्रा होती है जो हमारे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। 100 ग्राम ताजा गाजर के जूस में पाए जाने वाले पोषक तत्व इस प्रकार हैं।


  • बीटा कैरोटीन – 2.1 मिली ग्राम
  • विटामिन ए – 350 माइक्रोग्राम
  • विटामिन सी – 3 मिली ग्राम
  • विटामिन पीपी – 0.2 मिली ग्राम
  • विटामिन बी1 – 0.01 मिली ग्राम
  • विटामिन बी2 – 0.02 मिली ग्राम
  • विटामिन ई – 0.3 मिली ग्राम


इसके अलावा गाजर में खनिज पदार्थ में रूप में पोटेशियम ,
कैल्शियम , मैग्नीशियम , सोडियम , आयरन और फास्फोरस की अच्छी मात्रा होती है। गाजर के जूस में फ्लेवोनोइड्स, फाइटोनसाइड्स (phytoncides) और एंजाइम के साथ ही ऑर्गेनिक एसिड, मोनोसैकेराइड्स और डिसैकराइड्स (monosaccharides and disaccharides), स्टार्च भी होते हैं।

गाजर के जूस के फायदे – Benefits of Carrot Juice in Hindi

benefits-of-carrot-juice-and-side-effects-in-hindi

गाजर बायोटिन, मोलिब्डेनम, आहार फाइबर, पोटेशियम, विटामिन K, विटामिन बी 1, बी 6, बी 2, विटामिन सी और विटामिन ई , मैंगनीज, नियासिन, पैंथोथेनीक एसिड, फोलेट, फास्फोरस और तांबे से भरपूर होता है।

यह कैंसर और डायबिटीज जैसी बीमारियों के इलाज में सहायक हो सकता है और हमारी दृष्टि, त्वचा, बाल और नाखूनों में भी सुधार करता है। और यह सब आप कर सकते है रोजाना गाजर का रस पीकर! तो आइये जानते हैं गाजर के रस के लाभों के बारे में –

1. कैंसर के लिए

गाजर जूस के फायदे कैंसर जैसी समस्या में भी लाभदायक हो सकते हैं। गाजर प्रोविटामिन ए के उच्च स्रोतों में से एक है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार यह देखा गया कि रजोनिवृत्ति के बाद यह ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम कर सकता है। साथ ही वैज्ञानिक शोध में यह भी देखा गया कि धूम्रपान करने वालों में गाजर का जूस फेफड़ों के कैंसर का खतरा कम कर सकता है। इस आधार पर यह कह सकते हैं कि गाजर का जूस कैंसर से बचाव का काम कर सकता है।

2.रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए

गाजर जूस के फायदे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के काम आ सकते हैं । मानव शरीर के लिए जरूरी सूक्ष्म पोषक तत्वों में कैरोटेनॉयड्स ( Carotenoids) भी शामिल हैं, जो गाजर में पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। विशेषज्ञों के द्वारा किए गए एक वैज्ञानिक शोध के मुताबिक गाजर में मौजूद कैरोटेनॉयड्स रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के काम आ सकते हैं।

3. मेटाबॉलिज्म सुधरता है

गाजर के जूस में कम कैलोरी होती है. सोडा और दूसरे ड्रिंक्स के बजाए आप अगर गाजर का जूस पिएंगे तो आपका वजन कभी नहीं बढ़ेगा.

गाजर का जूस बाइल रिलीज भी बढ़ाता है जिससे मेटाबॉलिज्म में भी सुधार होता है. मेटाबॉलिज्म से मतलब है- वह दर जिससे शरीर में खाने से ऊर्जा बनती है. बाइल जूस से फैट को तोड़ने में भी मदद मिलती है.

2006 में चूहों पर की गई एक स्टडी के मुताबिक, बाइल के अधिक स्राव से मेटाबॉलिज्म सुधरता है और तेजी से वजन घटता है.

4. आंखों की रोशनी- Carrot juice benefits for eyes in Hindi

बहुत से डॉक्टर आंखों की क्षमता बढ़ाने के लिए गाजर के जूस को पीने की सलाह देते हैं। इसके अलावा आप अपने शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए अपने आहार में गाजर को शामिल कर सकते हैं। गाजर के जूस में बीटा कैरोटीन, विटामिन ए आदि की अच्छी मात्रा होती है। ये घटक एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है।

विटामिन ए आंखों की रक्षा करने में मदद करता है और देखने की क्षमता को बढ़ाता है। गाजर के जूस का सेवन करने से आंखों संबंधी विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

गाजर जूस का उपयोग ध्ब्बेदार अध: पतन, मोतियाबिंद और रात का अंधापन जैसी समस्याओं का उपचार कर सकता है। इस तरह से आपकी स्वस्थ्य आंखों के लिए गाजर का जूस फायदेमंद होता है।

5. त्वचा के लिए भी फायदेमंद- Carrot juice benefits for skin in Hindi

स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के साथ ही आप गाजर के जूस का उपयोग त्वचा को स्वस्थ्य रखने के लिए कर सकते हैं। गाजर के जूस में पोटेशियम की अच्छी मात्रा होती है जो कि एक एंटीऑक्सीडेंट है।
(also read: Multani mitti benefits for skin)

इसके अलावा पर्याप्त मात्रा में खनिज पदार्थों की मौजूदगी त्वचा कोशिकाओं को स्वस्थ्य रखने में मदद करते हैं। गाजर में मौजूद पोषक तत्व त्वचा को युवा बनाने और त्वचा की शुष्कता को कम करने में मदद करते हैं। यदि आप किसी त्वचा समस्या से परेशान हैं तो गाजर जूस का इस्तेमाल करें।

यह त्वचा के चकते, सोरायसिस आदि का प्रभावी रूप से इलाज कर सकता है। विटामिन सी के कारण गाजर का जूस बाहरी घावों और अन्य त्वचा संक्रमण को तेजी से ठीक करने में मदद करता है। इस तरह से गाजर जूस के लाभ त्वचा स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं।

6. खून की सफाई

पुरुषों को भी अपने खून की सफाई करनी जरुरी है। गाजर का जूस पीने से खून की सफाइ होती है।

7. स्पर्म की क्वालिटी बढाए

बताया जाता है कि गाजर खाने से स्पर्म की क्वालिटी सुधरती है। अगर आप अपनी फेमिली शुरु करने की सोंच रहे हैं तो आपको कच्ची गाजर खाना शुरु कर देनी चाहिये।

8. दिल के लिये

अगर आप हफ्ते में छह गाजर खाते हैं तो आपको दिल का रोग नहीं होगा। ह्दय की कमजोरी अथवा घड़कनें बढ़ जाने पर गाजर को भूनकर खाने पर लाभ होता है।

9. साल 2011 में न्यूट्रीशनल जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया कि 480 मिलीग्राम ताज़ा गाजर का जूस रोज़ पीने से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स बढ़ते हैं और लिपिड पैरॉक्सिडेशन कम होता है।

लिपिड पैरॉक्सिडेशन एक ऐसी प्रक्रिया है जो वहां नैचुरली होती है जो ऑक्सीडेंट्स अनसैचुरेटिड फैटी एसिड पर अटैक करते हैं। दिल को सेहतमंद रखने के अलावा, गाजर का जूस ब्लड प्रेशर को 5 प्रतिशत तक कम कर सकता है।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गाजर के जूस में मौजूद पोषक तत्व जिनमें फाइबर, पोटैशियम, नाइट्रेट्स और विटामिन सी, ब्लड प्रेशर को कम करने वाले तत्व होते हैं। बस फिर सोचना क्या, गाजर ले आइये और कल से ही शुरू हो जाएये गाजर का जूस पीना।

गाजर में नाइट्रेट काफी मात्रा में होता है जो रक्त वाहिकाओं को चौड़ा होने में मदद करती हैं और इस तरह से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। गाजर का ज़्यादा से ज़्यादा फायदा उठाने के लिए आप इसका एक ग्लास जूस हर रोज़ सुबह पिएं।

इसके लिए आपको कुछ खास नहीं करना, गाजर को पानी डालकर मिक्सर में ब्लेंड कर लें। टेस्ट के लिए नींबू निचोड़ लें और काला नमक मिलाएं।

10. गाजर के रस के फायदे रोके बढ़ती उम्र को

यदि आप नियमित रूप से गाजर का जूस पीते हैं तो आप आगे आने वाले समय में कई सालों तक बिल्कुल जवान और सुंदर दिखेंगे और आपकी स्किन बिल्कुल चमकदार और बिल्कुल अच्छी दिखाई देगी और गाजर आपकी उम्र को छुपाने में और आपके बुढ़ापे को भी छुपाती है क्योंकि गाजर में मुख्य रूप से बीटा कैरोटीन की उपस्थिति उपस्थिति होती है.

जो मेटाबोलिज्म को संचालित कर कोशिकाओं के स्वास्थ्य को सुनिश्चित करता है। इसके अलावा, विटामिन सी का समृद्ध स्रोत होने की वजह से, गाजर कॉलोजन के उत्पादन में भी सहायक है। कॉलोजन त्वचा के लचीलेपन को बनाये रखने में अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो झुर्रियाँ, रेखाएं और उम्र बढ़ने के अन्य लक्षण को रोकने में मदद करता है.

इसलिए अगर आप भी अपने आने वाले समय में लोगों को सुंदर और अच्छे दिखना चाहते हैं तो आपको प्रतिदिन एक या दो गिलास गाजर का जूस पीना चाहिए.

11. मधुमेह को नियंत्रित

वैसे तो गाजर के अंदर शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है लेकिन यह सिर्फ प्राकृतिक शुगर होती है और यह हमारे शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाती है बल्कि यह हमारे शरीर को फायदा करती है अभी भी जो मधुमेह के रोगी है उनके लिए यह एक स्वस्थ विकल्प के रुप में है.

इसके अलावा गाजर इसके अलावा, गाजर में निहित कैरोटेनॉयड्स रक्त-शर्करा के स्तर को नियंत्रित कर उसे कम करने में मदद करते हैं। यह इन्सुलिन प्रतिरोध को भी प्रभावित कर मधुमेह रोगियों को मधुमेह से लड़ने में मदद करते हैं।इसलिए हमें प्रतिदिन गाजर के जूस का सेवन करना चाहिए.

12. पाचन स्वास्थ्य के लिए

गाजर की सब्जी वैसे तो अच्छी होती ही है लेकिन इस सब्जी के अंदर बहुत ज्यादा मात्रा में आहार फाइबर होता है जो कि हमारे शरीर के पाचन को बढ़िया बनाए रखने में मदद करता है और गाजर के अंदर मौजूद फाइबर मल त्याग कर दिया को तो बढ़िया करता ही है परंतु साथिया मल को पाचन तंत्र के माध्यम से आसानी से पारित करने के लिए भी सहायक होता है और यह आमाशय रस के स्राव को भी उत्तेजित करता है तो इसलिए हमें गाजर की सब्जी का सेवन जरूर करना चाहिए.

कैसे गाजर का जूस बनायें/ How to make carrot juice

गाजर का रस एक स्वादिष्ट और पोषक तत्वों से भरपूर पेय होता है जिसमे बीटा कैरोटीन, विटामिन A, B, C, D, E और K और मिनरल्स जैसे, कैल्शियम, फॉस्फोरस और पोटैशियम होते हैं |

गाजर स्किन, बाल और नाखूनों के साथ ही लिवर के कार्यों के लिए बहुत लाभकारी होती है इसलिए अपने पूरे शरीर को ऊर्जा से भरने के लिए घर पर बनाये गाजर के जूस या रस का उपयोग करना एक बहुत उम्दा उपाय है |

इसके लिए आप चाहें तो ब्लेंडर या फ़ूड प्रोसेसर का उपयोग करें या फिर इसे फैंसी जूसर में बनायें, यह लेख आपको घर में गाजर का फायदेमंद जूस बनाना सिखाएगा |

”तैयारी में लगने वाला समय: 20 मिनट”
”बनाने में लगने वाला समय: 15-30 मिनट”
”कुल समय: 35-40 मिनट”

विधि 1:
ब्लेंडर या फ़ूड प्रोसेसर में गाजर का जूस बनायें

गाजर साफ़ कर लें: 2 पौंड (1 किलोग्राम) गाजर (लगभग 8 गाजर) लेकर उन्हें ठन्डे बहते हुए पानी के नीचे रखकर धोएं | अगर आप चाहें तो उन्हें सब्जी छीलने वाले ब्रश से छील लें | गाजर के चौड़े हिस्से को जहाँ पर हरी पत्तियां जुडी होती है या जुडी थी, उस हिस्से को चाकू की मदद से काटकर अलग कर दें |

अगर आप गाजरों की सतह पर पेस्टिसाइड होने के बारे में चिंतित हों तो इन्हें छील लेना चाहिए | इससे आपकी गाजरों की पोषकतत्वों की मात्रा में कोई विशेष कमी नहीं आती |

आप जैविक रूप से उत्पन्न गयी गाजरों को खरीद सकते हैं जिनकी कीमत अधिक होती है लेकिन ये पेस्टिसाइड से मुक्त होती हैं |

2. गाजरों के टुकड़े करें: भले ही आपके पास उच्च क्वालिटी का ब्लेंडर या फ़ूड प्रोसेसर हो, आप उसमें पूरी साबुत गाजर डालकर उसे ख़राब करने का जोखिम नहीं उठाना चाहेंगे |

गाजर का जूस बनाने के लिए इन्हें ब्लेंडर में डालने से पहले गाजर के उचित आकार के टुकड़े काट लें |

कोई भी ब्लेंडर या फ़ूड प्रोसेसर गाजर के 1 से 2 इंच के टुकड़ों को भली प्रकार से महीन कर देगा |

3. गाजर की प्यूरी बनायें: ब्लेंडर या फ़ूड प्रोसेसर में साफ़, कटी हुई गाजर रखें | अच्छी तरह से बारीक होने तक या अच्छी तरह से मसलने तक पीसें |

अगर गाजर बहुत अधिक गीली या नमीयुक्त न हों और ठीक से पिस नहीं पा रही हों तो थोडा सा पानी मिलाएं |

याद रखें, फ़ूड प्रोसेसर गाजर की उतनी अच्छी प्यूरी नहीं बनाएगा जितनी अच्छी प्यूरी ब्लेंडर में बनेगी |

यह कोई बड़ी समस्या नहीं है, लेकिन अगर आपके पास ब्लेंडर उपलब्ध हो तो उसी का उपयोग करें |

4. पानी मिलाएं: अगर आप शुद्ध गाजर के स्वाद को पतला करना चाहते हों तो गाजर की प्यूरी में थोडा पानी मिलाएं | इससे गाजर का स्वाद भी बढ़ेगा और आपको जूस भी ज्यादा मिलेगा |

इसमें दो कप पानी मिलाकर इसे उबालें |

एक बड़े कांच के कंटेनर में गर्म पानी और गाजर की प्यूरी को मिलाएं |

प्यूरी को पूरे मिश्रण में एक समान रूप से मिलाने के लिए हिलाते जाएँ |

5. मिश्रण को भाप में रहने दें: पानी की एक सबसे ख़ास खूबी यह है कि यह गर्म होने पर स्वाद और पोषक तत्वों को बहुत अच्छी तरह से अपने अंदर समाहित कर लेता है |

जैसे कि चाय, जितनी देर आप गाजर की प्यूरी को गर्म पानी में डाले रखेंगे जूस उतना ही स्वादिष्ट बनेगा और इसे पीने से आपके शरीर को पूरे पोषक तत्व मिलेंगे |

इसे गर्म पानी में 15 से 30 मिनट तक डाले रहें |

6. पल्प को हटा लें: एक हाथ छन्नी का उपयोग करते हुए जूस को 2 लीटर के पात्र में छानें |

एक गिलास के आधार भाग या किसी चपटी वस्तु से छन्नी से यथासंभव अधिक से अधिक जूस निकालने के लिए पिसी हुई गाजर को दबाएँ |

अगर आप पल्प को और अधिक छनना चाहते हैं तो निकाले गये जूस को जेली छानने वाली छन्नी में डालें |

7. ब्लेंड (blend) को एडजस्ट करें: आप जितना गाढ़ा जूस पीना चाहें उसके अनुसार स्वाद के लिए पानी मिलाएं |

8. तुरंन्त परोसें: जूस ऑक्सीडाइज होना और अपने पोषक तत्वों को जल्दी ही खोना शुरू कर देता है, विशेषरूप से अगर आपने हाई-स्पीड वाले सेंट्रीफुगल जूसर का उपयोग किया हो तो |

 जूस को बनाने के बाद इसे जल्दी से जल्दी पीकर ख़त्म करने की कोशिश करनी चाहिए, आपको जिस प्रकार से पसंद हो इसे वैसे पियें, चाहें तो कमरे के तापमान पर पियें अन्यथा बर्फ डालकर पियें |

परन्तु, अगर आपको इसे संग्रह करके रखना पड़े तो भी इसे रेफ्रीजिरेटर में 24 घंटे से अधिक न रखें | (knowledge source: wikihow.com)

गाजर के रस के नुकसान - Carrot Juice Side Effects in Hindi

1. डायबिटीज रोगियों को अधिक मात्रा में गाजर के रस के सेवन से बचना चाहिए।

2. गाजर के रस में हल्का रेचक प्रभाव होता है, इसलिए अगर आपको दस्त है तो इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए।

3. आपको अग्न्याशय और आंतों के रोगों के बढ़ने के दौरान गाजर का रस नहीं पीना चाहिए। यह अग्न्याशय पर भार पैदा करता है।

4. गाजर में मौजूद बीटा-कैरोटीन आपके शरीर में विटामिन ए की कमी को पूरा करता है। लेकिन, अगर आप गाजर के रस का सेवन बहुत ही अधिक मात्रा में करते हैं तो इससे आपके शरीर का रंग फीका पड़ सकता है।

5. अधिक मात्रा में गाजर के जूस का सेवन करने से स्तन-दूध का स्वाद बदल जाता है, इसलिए स्तनपान करा रही महिलाओं को इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

6. कुछ लोगों को गाजर से एलर्जी हो सकती है। अतः ऐसे लोगों को गाजर के रस के सेवन से बचना चाहिए।

Benefits of carrot juice, side effects of caroot juice, how to make carrot juice, carrot juice nutrition, gajar ke juice ke fayde, gajar ke juice ke nuksan, gajar juice ke fayde.