मटर के फायदे, उपयोग और नुकसान – Green Peas Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

matar ke fayde aur nuksan in hindi
matar ke fayde aur nuksan in hindi

मटर के फायदे और नुकसान – Green Peas Benefits and Side Effects in Hindi


इसके उपयोग और गुणों के बारे में चर्चा करने से पहले हम मटर के फायदे (Green Peas Benefits) के संबंध में जान लेते हैं।

ठंड के मौसम में हरी सब्जियों की बहार होती है। इस सब्जियों के बीच हरी मटर चार चांद लगा देती है। इतना ही नहीं मटर की मौजूदगी भोजन के प्रति आपकी रुचि के दुगुना कर देती है।

सब्जी को या पुलाव, पराठे हों या पोहा, ठंड के दिनों में बगैर मटर के सब अधूरा ही होता है।


मटर भी ठंड के समय में मिलने वाली सबसे लोकप्रिय सब्जी है। इसका प्रयोग लोग कई प्रकार के व्यंजनो में बहुत शौक से करते हैं।

लोग मटर की फली को खाना पसंद तो करते हैं लेकिन उन्हें यह भ्रम रहता है कि इसमें स्वास्थ्यवर्धक गुण होते हैं या नहीं।

लेकिन हम आपको बताना चाहते हैं कि इसमें भी कई सेहतमंद गुण होते हैं।

मटर में ऐसे कई पोषक तत्व हैं, जो गंभीर से गंभीर बीमारियों का इलाज करने में सक्षम हैं।

स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम मटर के इन्हीं गुणों पर चर्चा करेंगे, साथ ही इसके उपयोग के विभिन्न तरीकों और इसके नुकसान से भी आपको रूबरू कराएंगे।

मटर के फायदे – Benefits of Green Peas in Hindi


इसमें पाए जाने वाले अनगिनत आयुर्वेदिक गुणों के कारण मटर के फायदे भी कई हैं।

यह हमारे स्वास्थ्य के साथ-साथ त्वचा और बालों के लिए भी काफी लाभकारी माना जाता है।

आइए, कुछ बिन्दुओं के माध्यम से हम इसके फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

सेहत/स्वास्थ्य के लिए मटर के फायदे – Health Benefits of Green Peas in Hindi

matar ke fayde aur nuksan in hindi
matar ke fayde aur nuksan in hindi

मटर के फायदे मधुमेह के लिए - Matar for Diabetes in Hindi


मधुमेह रोग से पीड़ित व्यक्तियों के लिए मटर बहुत ही फायदेमंद होती है।

मटर की फली में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है जो कि हमारे शरीर के खून में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करता है, जिससे डाइयबिटीज में आराम मिलता है।

त्वचा के लिए मटर के फायदे – Skin Benefits of Green Peas in Hindi

Skin Benefits of Green Peas in Hindi
Skin Benefits of Green Peas in Hindi

मटर हमारे चेहरे के लिए एक प्राकृतिक स्क्रब की तरह काम करता है जिससे हमारी त्वचा जवान और सुंदर दिखाई देती है।

इसके साथ ही इसमें उपस्थित फ्लावोनोइड्स, केरोटीन हमारे शरीर को जवान और एनर्जी से भरपूर बनाने में मदद करते हैं।

मटर में एंटीऑक्सीडेंट का गुण शरीर को चुस्त और दुरस्त बनाने में मदद करता है।

चेहरे के लिए इसका प्रयोग करने के लिए मटर की कुछ फलियों को पानी में उबाल लें फिर इसे पीसकर इसका लेप बना लें।

फिर इस लेप से अपने चेहरे को रगड़ें और 15 से 20 मिनट के बाद चेहरे को धो लें।

ऐसा करने से चेहरे की खोई हुई चमक वापस आती है और चेहरे से धूल, मिट्टी और गंदगी दूर होती है।

इसके अलावा दूध में उबली हुई मटर और संतरे के छिलके को अच्छी तरह से पीसकर उबटन बनाएं और चेहरे पर अच्छे से रगदेन।

इससे चेहरे का रंग साफ होता है, झाईयां और दाग-धब्बे भी दूर होते हैं।

बता दें मटर में विटामिन ए, विटामिन सी के साथ प्रचुर मात्रा में जिंक पाया जाता है।

वहीं एक शोध से इस बात की भी पुष्टि होती है कि मटर में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव पाए जाते हैं।

खास यह है कि इन तीनों विटामिन के साथ इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुण न केवल त्वचा को चमकदार बनाता है, बल्कि उसके बेहतर स्वास्थ्य को बढ़ावा भी देता ह।

मटर विटामिन सी का अच्छा स्रोत है।

वहीं एक शोध के माध्यम से इस बात की पुष्टि कि गई है कि जल जाने की स्थिति में विटामिन सी प्रभावित स्थान को ठीक करने में सहायक साबित होता है।

दूसरी ओर विटामिन सी और त्वचा से संबंधित एक शोध में इस बात की पुष्टि की गई है कि इसका इस्तेमाल त्वचा संबंधित कई विकारों को दूर करने में सहायक साबित हो सकता है।

साथ ही इसमें त्वचा को आराम पहुंचाने का गुण भी शामिल है।

कैंसर से बचाएँ मटर के गुण - Peas for Cancer in Hindi


मटर में एंटी कैंसर गुण भी होते हैं जो कि शरीर को कई प्रकार के ख़तरे से बचाते हैं।

इसमें मौजूद कौमेस्ट्रॉल, शरीर को कैंसर से लड़ने की शक्ति देता है।

इसलिए हर दिन मटर का सेवन करने से शरीर से सभी विषैले पदार्थ और कैंसर एलिमेंट को दूर करने में मदद करता है।

मटर बेनिफिट्स फॉर वेट लॉस – Peas Benefits For Weight Loss in Hindi


अपने वजन को कम करने के लिए भोजन से समझौता न करें।

क्‍योंकि मटर ऐसा स्‍वादिष्‍ट और पौष्टिक खाद्य है जो बिना किसी दुष्‍प्रभाव के आपके वजन को नियंत्रित कर सकता है।

मटर में वसा की मात्रा कम होती है साथ ही इसमें कैलोरी भी कम होती है।

इसलिए इसका सेवन करने पर यह वजन बढ़ाने वाले कारको को छोड़कर अन्‍य सभी पोषक तत्‍व उपलब्‍ध करा सकता है।

इसमें मौजूद फाइबर की उच्‍च मात्रा भी वजन को कम करने में सहायक भूमिका निभाती है।

फाइबर आपकी भूख को नियंत्रित कर बार-बार भोजन करने की इच्‍छा को कम कर सकता है।

यह आपके वजन को प्रबंधित करने में विशेष मदद कर सकता है। हरी सब्‍जीयां पहले से ही आपके स्‍वास्‍थ्‍य और वजन प्रबंधन में मदद करती है।

आप भी वजन कम करने के लिए मटर का उपभोग कर सकते हैं।

अर्थराइटिस में लाभदायक


माना जाता है कि हरी मटर के फायदे में आर्थराइटिस की समस्या से छुटकारा भी शामिल है।

कारण यह है कि इसमें सेलेनियम नाम का एक खास तत्व पाया जाता है।

विशेषज्ञों के मुताबिक, सेलेनियम आर्थराइटिस से छुटकारा पाने में लाभकारी साबित होता है।

इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि मटर का इस्तेमाल जोड़ों से संबंधित समस्या को दूर करने में सहायक साबित हो सकता है.

हड्डियों के लिए उपयोगी


कैल्शियम, मैग्नीशियम, जिंक के साथ-साथ मटर में विटामिन सी और विटामिन के भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

विशेषज्ञों के मुताबिक, यह सभी पोषक तत्व हड्डियों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी होते हैं।

इनकी कमी होने पर हड्डियों से संबंधित समास्याएं (जैसे:- ऑस्टियोपोरोसिस) इंसान को घेरने लगती हैं.

इस लिहाज से ऐसा कहा जा सकता है कि मटर का उपयोग हड्डियों के फायदेमंद साबित हो सकता है।

बालों के लिए मटर के फायदे – Hair Benefits of Green Peas in Hindi

Hair Benefits of Green Peas in Hindi
Hair Benefits of Green Peas in Hindi


मटर का सेवन बालों की ग्रोथ में भी काफी सहायक साबित हो सकता है। दरअसल, इसमें पाए जाने वाले फोलेट, और विटामिन सी बालों के विकास के लिए बेहतर माने जाते हैं।

इनकी मौजूदगी बालों की जड़ों को मजबूत करने के साथ उनकी ग्रोथ को बढ़ाने का भी काम करती है.

विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी के साथ जिंक और आयरन की मौजूदगी मटर को बालों के लिए बेहद फायदेमंद बना देती है।

एक शोध के माध्यम से इस बात की पुष्टि की गई है इन सभी तत्वों की कमी इंसान में बालों के झड़ने की समस्या का कारण बन सकती है

हरी मटर के फायदे गर्भवती महिलाओं के लिए – Green Peas Benefits For During Pregnancy in Hindi

Green Peas Benefits For During Pregnancy in Hindi
Green Peas Benefits For During Pregnancy in Hindi

ताजा मटर के दानों मे फोलिक एसिड की अच्‍छी मात्रा होती है। फोलेट्स बी-कॉम्‍प्‍लेक्‍स विटामिन हैं जो कोशिका के अंदर डीएनए संश्‍लेषण के लिए आवश्‍यक होता है।

अध्‍ययनों से पता चलता है कि गर्भवती माताओं में फोलेट समृद्ध खाद्य पदार्थों की पर्याप्‍त मात्रा नवजात शिशुओं में तंत्रिका ट्यूब दोषों को रोकने में मदद करते हैं।

इस तरह से गर्भवती महिलाओं को मटर का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है।


मटर के दाने फाइबर से भरपूर होते हैं, जो आपको उर्जावान बनाए रखते हैं।

हरी मटर को नियमित खाने से आप लंबे समय तक जवां नजर आते हैं और बढ़ती उम्र का असर जल्दी दिखाई नहीं देता।

यदि आपको लगता है कि आप रोजाना की छोटी-छोटी चीजें याद नहीं रख पाते, तो हरी मटर का नियमित सेवन कीजिए।

यह आपकी स्मरण शक्ति को बढ़ाने में मदद करेगी।


मटर के उपयोग – Uses of peas


मटर सब्जी के रूप में काम लिया जाता है लेकिन वैज्ञानिक दृष्टि में मटर एक फल है।

सूखे मटर का उपयोग हजारों सालों से किया जा रहा है लेकिन 16 वीं शताब्दी से पहले तक सिर्फ सूखे मटर का उपभोग किया जाता था।

इसके बाद हरे मटर खाने का चलन होने लगा।


ताजे हरे मटर सब्जी में एक विशेष रंगत और स्वाद पैदा करते हैं जो सभी को पसंद आता है।

मटर पनीर , आलू मटर , गाजर मटर आदि सब्जियों का स्वाद बचपन से सभी लेते आये हैं।

मटर से कई प्रकार के व्यंजन जैसे कचौरी आदि भी बनाये जाते हैं।

आइये जानें हरे मटर के क्या फायदे नुकसान हैं , इनमें कौनसे पोषक तत्व पाए जाते है तथा इन्हे कैसे और कितनी मात्रा में खाना चाहिए।

मटर के पोषक तत्व – Green Peas Nutrition

मटर के पोषक तत्व – Green Peas Nutrition
मटर के पोषक तत्व – Green Peas Nutrition

हरे मटर में प्रोटीन , फाइबर तथा विटामिन बी समूह के कई विटामिन पाए जाते हैं। विशेषकर विटामिन बी 6 प्रचुरता से होता है।

इसमें पाया जाने वाला प्रोटीन उच्च गुणवत्ता का होता है। इनमें विटामिन K , विटामिन A , विटामिन C , तथा फोलेट प्रचुर मात्रा में होते हैं।

खनिज के रूप में मटर में मैंगनीज ,फास्फोरस ,पोटेशियम ,आयरन , मैग्नीशियम , कॉपर , जिंक आदि की बहुतायत में होते हैं।

अल्प मात्रा में कैल्शियम भी पाया जाता है। शाकाहारी लोगों को मटर से अच्छा प्रोटीन प्राप्त होता है।

हरे मटर को घर पर फ्रिज में प्रिज़र्व करके साल भर काम में लिया जा सकता है।

प्रिजर्व करने पर भी इसके पोषक तत्व बने रहते हैं।

मटर के नुकसान – Matar Ke Nuksan in Hindi


हमारे स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने वाले सारे गुण मटर में मौजूद रहते हैं। लेकिन फिर अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

हालांकि मटर खाने के ज्‍यादा विशेष और गंभीर दुष्‍प्रभाव नहीं होते हैं। लेकिन फिर भी यह कुछ हद तक परेशानी में डाल सकते हैं।

आवश्‍यकता से अधिक मात्रा में इसका सेवन करने पर आपको पेट में दर्द और दस्‍त जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं।

यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं, तो औषधीय उद्देश्‍य के लिए मटर का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लें।

गर्भवती और स्‍तन पान कराने वाली महिलाओं को मटर का अधिक मात्रा में सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लेना आवश्‍यक है।

कुछ लोगों को मटर का उपभोग करने पर एलर्जी प्रतिक्रियाएं हो सकती है। इसलिए किसी भी प्रकार की समस्‍या होने पर इसका सेवन बंद कर दें और डॉक्‍टर से सलाह लें।

Like Us on Facebook, Follow Us on Twitter and Pinterest For more.